Thursday, 14 August 2014

68वें स्वतत्रंता दि‍वस के अवसर पर लालकिले के प्राचीर से राष्ट्र को संबोधित करते पीएम मोदी

हमें भारत से गरीबी को हटाना है। सार्क देश मिलकर दुनिया में अपनी अहमियत साबित कर सकते हैं। सार्क देशों को मिलकर अपनी गरीबी दूर करनी है। मैं देशवासियों से कहता हैं कि अगर आप 12 धंटे काम करेंगे तो मैं 13 धंटे काम करूंगा। अगर आप 14 घंटे काम करेंगे तो मैं 15 घंटे काम करूंगा क्योंकि मैं आज आप लोगों के बीच प्रधानमंत्री के रूप में नहीं बल्कि प्रधानसेवक के रूप में उपस्थित हूं। मैं देश की रक्षा में तैनात सैनिकों का नमन करता हूं। सीमा पर जवान जाग रहें हैं इसलिए हमें भी जागते रहना होगा।  
-हर सांसद आदर्श गांव बनाएं। पांच साल में सांसद पांच आदर्श गांवों का निर्माण करें। देश बनाना है तो गांवों से शुरुआत करनी होगी। 12 अक्टूबर से सांसद आदर्श ग्राम योजना शुरू की जाएगी। जयप्रकाश की जयंती पर यह योजना शुरू होगी। योजना आयोग का कायाकल्प करने की जरूरत है। योजना आयोग की जगह पर नई सोच, नई दिशा, नई विश्वास के साथ हम एक नई संस्था का निर्माण करेंगे। योजना आयोग ने अब तक बहुत ही अच्छा काम किया है, उसके कार्यों का मैं अभिनंदन करता हूं लेकिन अब समय बदल गया है। आर्थिक वृद्धि का काम आज केवल सरकारें नहीं बना रही हैं। आर्थिक हलचल का दायरा बहुत बढ़ गया है, इसे देखते हुए हम इस दिशा में हम शीघ्र आगे बढ़ने वाले हैं।

-महात्मा गांधी की 150वीं जयंती आने वाली है। गांधीजी को साफ-सफाई बहुत ही प्रिय था। हमें स्वच्छता का संकल्प लेना है। साफ-सफाई बहुत बड़ा काम है। देशवासियों को स्वच्छ भारत अभियान को आगे बढ़ाना है। हमें हर घर में शौचालय सुनिश्चित कराना है। मैं देश के लोगों, कॉरपोरेट घरानों का आह्वान करता हूं कि वे राज्य सरकारों के साथ मिलकर देश के सभी स्कूलों में बच्चियों के लिए अलग शौचालय का निर्माण करें। अगले साल जब हम 15 अगस्त को लालकिले पर मिलें तो कोई भी स्कूल बिना शौचालय के न हो।
-मैं चाहता हूं कि देश के हर कोने में यह बात पहुंचे कि 'मेड इन इंडिया'। देश का यही सपना होना चाहिए। नौजवानों से मैं अपील करता हूं कि वे आगे आएं और अपनी कौशल का परिचय दुनिया को कराएं। भारत के बारे में दुनिया की अवधारणा बदली है। अब यह देश सांप और जादूगरों का नहीं है। अब यह देश 'डिजिटल इंडिया' है। हमारे आईटी क्षेत्र के युवाओं ने दुनिया में भारत की तस्वीर बदल दी। आईटी के क्षेत्र में हमारे युवाओं की क्षमता का लोहा आज पूरी दुनिया मानती हैं।
-यह देश नौजवानों का है। भारत विश्व का सबसे नौजवान देश है। सरकार पीएम जनधन योजना शुरू करेगी। इस योजना के तहत देश के प्रत्येक नागरिक का बैंक में अकाउंट खोला जाएगा और एक लाख रुपए का बीमा सुनिश्चित किया जाएगा ताकि मुश्किल वक्त में यह राशि लोगों के काम आ सके। देश के युवाओं को कौशल से जोड़ने की जरूरत है। युवाओं को रोजगार देना है तो हमें उत्पादन क्षेत्र को बढ़ाना है। देश के हर युवा को हुनरमंद बनाना है।
-देश में लड़कों के मुकाबले लड़कियां कम पैदा होती हैं। यह असंतुलन तो ईश्वर पैदा नहीं करता। मैं लोगों से अनुरोध करता हूं कि वे गर्भ में लड़कियों की बलि न दें। देश की आन-बान-शान में हमारी बेटियों का भी योगदान है। अपनी तिजोरी के लिए बेटियों की बलि मत दीजिए।
-हिंसा के रास्ते से कुछ नहीं मिलेगा। आतंकी भी किसी के बेटे हैं। माओवादी भी किसी के बेटे हैं। कंधे पर बंदूक की जगह हल क्यों नहीं हो सकता। आजादी के बाद से जातिवाद, संप्रदाय वाद के जहर से आज हम जकड़े हुए हैं। इससे कुछ नहीं मिला। हमें इनसे दूर जाना होगा। शांति, भाईचारा और सद्भाव हमें आगे बढ़ने में मदद करेगा।
-देश में बलात्कार की घटनाओं से सिर शर्म से झुक जाता है। परिवारों को लड़कियों पर ही बंदिशें नहीं डालनी चाहिए। माता-पिता को चाहिए कि वह बेटों पर भी अंकुश लगाएं।
-बड़ी मुश्किल से मिली आजादी। देश को राजनेताओं ने नहीं, जनता ने बनाया। आजादी के सिपाहियों को मेरा नमन। गरीब का पीएम बनना लोकतंत्र की ताकत। हम सभी को मिलकर देश को आगे बढ़ाना है। सरकार की सफलता का श्रेय विपक्ष को भी।